• हम आए दिन बड़े-बड़े आयोजनों की खबरें पढ़ते रहते हैं। इस तरह के भव्य आयोजनों की व्यवस्था करना ही इवेंट मैनेजमेंट कहलाता है। इन आयोजनों की सफलता के पीछे जिन लोगों की कड़ी मेहनत होती है, वे इवेंट मैनेजर कहे जाते हैं। 
    Continue reading »

  •  

    Steve Jobs

    स्टीव जॉब्स की जिंदगी ने दुनिया भर में करोड़ों लोगों को प्रभावित किया है। उनके बातचीत करने का ढंग हो या प्रस्तुतिकरण की बात हो या फिर किसी भी उत्पाद को देखने और मार्केट करने का ढंग हो, सबकुछ बिलकुल अलग सोच लिए होता था। इसी अलग सोच ने उन्हें स्टीव जॉब्स बनाया। आइए जानते हैं कि स्टीव जॉब्स की सफलता के मूलमंत्र क्या थे। Continue reading »

  • प्रमुख व्यक्तित्व

    Continue reading »

  • गोल्डन ग्लोब अवार्ड 

    हॉलीवुड के प्रतिष्ठित गोल्डन ग्लोब अवार्ड में फिल्म ‘द सोशल नेटवर्क ने चार पुरस्कार जीते हैं। प्रतिवर्ष दिए जाने वाले यह प्रतिष्ठित पुरस्कार इस बार 16 जनवरी को कैलिफोर्निया में प्रदान किए गए। पुरस्कारों की दौड़ में सबसे ज्यादा नामांकित हुई फिल्म ‘द किंग स्पीचÓ मात्र एक पुरस्कार ही हासिल कर सकी। इन पुरस्कारों की शुरुआत सन 1944 में हुई थी।

    सर्वश्रेष्ठ फिल्म (ड्रामा): द सोशल नेटवर्क

    सर्वश्रेष्ठ फिल्म (म्यूजिकल/ कॉमेडी): द किड्स आर ऑल राइट

    सर्वश्रेष्ठ निर्देशक: डेविड फिंचर, द सोशल नेटवर्क; सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (ड्रामा): कोलिन फिर्थ, द किंग्स स्पीच; सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री (ड्रामा): नताली पोर्टमैन, ब्लैक स्वान; सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (म्यूजिकल/ कॉमेडी): पॉल गिआमट्ट, बर्नी वर्सन; सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री (म्यूजिकल/ कॉमेडी): एनेट्टे बेनिंग, द किड्स आर ऑल राइट; सर्वश्रेष्ठ सह अभिनेता: क्रिश्चियन बेल, द फाइटर;

    सर्वश्रेष्ठ सह अभिनेत्री: मिलेस्सा लिओ, द फाइटर;  सर्वश्रेष्ठ एनीमेटेड फिल्म: टॉय स्टोरी 3; सर्वश्रेष्ठ स्क्रीन प्ले: ऐरॉन सोरकिन, द सोशल नेटवर्क; विदेशी भाषा की सर्वश्रेष्ठ फिल्म: इन ए बेटर वल्र्ड, डेनमार्क Continue reading »

  • भारतीय बैंकिंग व्यवस्था

    भारत में संस्थागत बैंकिंग की स्थाई शुरूआत 1806 ई. मे हुई थी। निजी अंशधारित तीन पे्रसीडेंसी बैंकों की स्थापना की गई, जो इस प्रकार हैं-सन 1806 में बैंकआफ बंगाल, सन 1840 में बैंक आफ बांबे तथा सन 1943 में बैंक आफ मद्रास।

    भारत सरकार ने सन 1860 में एक संयुक्त पूंजी कंपनी अधिनियम पारित किया जिसके बाद भारत में अनेक संयुक्त पूंजी बैंक स्थापित हो गए। इनमें से प्रमुख बैंक थे-इलाहाबाद बैंक(1865), एलांस बैंक आफ शिमला(1881), अवध कामर्शियल बैंक (1881), पंजाब नेशनल बैंक (1894) और पीपुल्स बैंक आफ इंडिया(1901)।
    संयुक्त पूंजी पर आधारित भारतीयों द्वारा संचालित प्रथम बैंक अवध कामर्शियल बैंक था, जिसकी स्थापना 1881 में हुई।

    Continue reading »

« Previous Entries   

Powered By Indic IME