• ऑस्‍ट्रेलिया में टीम इंडिया की शर्मनाक हार के बाद भारतीय खिलाड़ी, खास कर सीनियर खिलाड़ी निशाने पर हैं। यहां तक कि सचिन के खिलाफ भी आवाज उठी है।हार के बाद मीडिया से मुखातिब वीरेंद्र सहवाग से भी पत्रकारों ने पूछा कि आखिर सचिन मीडिया के सामने क्‍यों नहीं आए। सहवाग ने जवाब दिया कि वह जब रन बनाते हैं तब मीडिया से बात करते हैं।

    Continue reading »

  • वसंत पंचमी का उत्सव ज्ञान की देवी ‘मां सरस्वती’ के जन्म दिवस के रूप संपूर्ण भारत में मनाया जाता है। इसी दृष्टि से वसंत का मौसम सभी के लिए बहुत मायने रखता है। क्योंकि इस दिन शुभ्रवसना, वीणावादिनी, मंद-मंद मुस्कुराती हंस पर विराजमान मां सरस्वती मानव जीवन में अज्ञान रूप जड़ता को दूर कर ज्ञान के प्रकाश से आलौकित करती हैं।
    Continue reading »

  • प्रत्येक वर्ष माघ माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी को वसंत पंचमी के रूप में मनाया जाता है। देवी सरस्वती के इस प्राकट्य पर्व को सर्वसिद्धि दायक पर्व माना जाता है। वसंत पंचमी 28 जनवरी को है। माघ माह में जब सूर्य देवता उत्तरायण रहते हैं ऐसे में गुप्त नवरात्रि के मध्य पंचमी तिथि को लोक प्रसिद्ध स्वयंसिद्ध मुहूर्त के रूप में माना जाता है। 
    Continue reading »

  • भारत के प्रथम राष्‍ट्रपति डॉ. राजेन्‍द्र प्रसाद ने 26 जनवरी 1950 को 21 तोपों की सलामी के साथ भारतीय राष्‍ट्रीय ध्‍वज को फहराकर 61 वर्ष पहले भारतीय गणतंत्र के जन्‍म की ऐतिहासिक घो‍षणा की थी। अंग्रेजों के शासनकाल से 894 दिन बाद हमारा देश स्‍वतंत्र राज्‍य बना। तब से आज तक हर वर्ष समूचे राष्‍ट्र में गणतंत्र दिवस बड़े गर्व और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। 
    Continue reading »

  • कड़ी निगरानी के लिए जमीनी और हवाई सुरक्षा उपकरणों की तैनाती के साथ दिल्ली बुधवार को गणतंत्र दिवस समारोह के लिए तैयार हो गई। अधिकारी देश की सैन्य ताकत तथा सांस्कृतिक विविधता को दर्शाने वाले इस आयोजन के लिए जी जान से जुटे हैं।

    इस बार गणतंत्र दिवस समारोह की मुख्य अतिथि थाईलैंड की पहली महिला प्रधानमंत्री यिंगलक शिनवात्रा हैं। सुरक्षा के मद्देनजर शहर में अर्धसैनिक बलों के कर्मियों और एनएसजी के अचूक निशानेबाजों सहित 25 हजार से अधिक पुलिसकर्मी पहले ही तैनात किए जा चुके हैं।
    Continue reading »

« Previous Entries   

Powered By Indic IME